छात्रावास भवन की प्रथम मंजिल का शुभारम्भ

 

प्रो . ( डॉ . ) कपिल देव स्वामी , पूर्व कुलप्रति म . सु . बृज विश्वविद्यालय , भरतपुर) के कर कमलों द्वारा माघ बदी नवमी संवत् 2078 तद्नुसार दि . 26 जनवरी 2022 वार बुधवार के शुभ अवसर पर किया गया ।यह छात्रावास 1997 से संचालित है जिसमें पढ़कर सैंकड़ों ग्रामीण विधार्थी राजकीय तथा प्राइवेट सर्विस में लग चुके हैं । गत वर्ष रामनवमी को प्रथम मंजिल निर्माण शुरू हुआ था जो की तय समय मे पूर्ण हुआ । प्रो . केडी स्वामी जी ने समाज बन्धुओ को ऑन लाइन संदेश दिया की शिक्षा से ही समाज का विकास हो सकता है । वर्तमान समय में बालिका छात्रावास की आवश्यकता है जिस पर सभी समाज बन्धुओ को अविलम्ब कार्यवाही करनी चाहिए ।कोरोना काल के चलते सीमित सदस्यों की मौजूदगी में उद्घाटन किया गया। प्रो . ( डॉ . ) के . डी . स्वामी (संयोजक) ,एडवोकेट अखिल कुमार स्वामी ( अध्यक्ष ) एडवोकेट मनरूप स्वामी ( सचिव ) , हेमंत स्वामी, एडवोकेट युधिष्ठर स्वामी, राधेश्याम स्वामी, सौरव स्वामी मौजूद रहे| विद्यार्थी हितों को देखते हुए अब छात्रावास में विद्यार्थियो के प्रवेश की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। विस्तृत कार्यक्रम कोरोना काल ठीक होने पर समाज के भामाशाहो दानदाताओ के सम्मान समारोह और प्रीतिभोज रखा जायेगा। कार्यक्रम के अंत में एडवोकेट युधिष्ठर स्वामी ने अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापित किया

श्री धन्ना वंशी स्वामी समाज समिति नागौर की आम सभा की बैठक 1 AUG 2021

श्री धन्ना वंशी स्वामी समाज समिति नागौर की आम सभा की बैठक आज श्री धन्ना वंशी छात्रावास माना सर नागौर में श्री देवाराम स्वामी की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में समिति के कोषाध्यक्ष श्री राधेश्याम गोदारा द्वारा वार्षिक आय-व्यय का ब्यौरा प्रस्तुत किया गया। वार्षिक आम सभा बैठक में आज कार्यकारिणी का पुनर्गठन किया गया जिसमें देवाराम स्वामी को पुन अध्यक्ष, श्री राम निवास स्वामी को मंत्री, श्री रामकरण जाखड़ को उपाध्यक्ष एवं राधेश्याम गोदारा को कोषाध्यक्ष चुना गया। समिति की कार्यकारिणी में श्री दामोदर रलिया, बस्तीराम गोरा, प्रेमदास बिडियासर, नरेंद्र कड़वासरा, प्रेमदास लटियाल, पदमाराम स्वामी, भरत कुमार रलिया, कालू दास छापड़ा, मुरली मनोहर बेनीवाल, श्रवण दास जी मदेरणा, मदन दास जी जाजड़ा, प्रेमदास जी बादेड़ , भंवर लाल जी पूनिया जायल, कौशल कुमार सारण गाजू, मदन दास जी गोराऊ, रमण दास जी कल्याणसर को कार्यकारिणी सदस्य मनोनीत किया गया। सभा में समाज की प्रतिभाएं जिनका राजस्थान प्रशासनिक सेवा में चयन हुआ उनमें से श्रीमती रजनी स्वामी दूजार, श्रीमती संतोष स्वामी कल्याणसर एवं अन्य राजकीय सेवा में चयनित श्रीमती अलका, श्रीकांत गोरा, गोविंद गोरा, डॉ प्रियंका स्वामी, श्रीमती पूजा स्वामी, श्री देवेंद्र आंवला, प्रगति स्वामी, डॉ राम अवतार मदेरणा का प्रशंसा पत्र देकर एवं शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया। समाज सेवा में अग्रणी योगदान प्रदान करने वाले एवं राजकीय सेवा से सेवानिवृत्त होने वाले श्री सुभाष चंद्र जी जाखड़, श्री माल दास जी स्वामी को भी सम्मानित किया गया ‌। समाज सेवा के प्रति विशेष योगदान प्रदान करने वाले श्रीमान सांवरमल जी अधिशासी अभियंता को विशेष सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया गया। वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए श्री रामनिवास स्वामी ने बताया के वर्तमान परिस्थितियों में समाज के चौमुखी विकास के लिए महिला शिक्षा अत्यंत आवश्यक है एवं महिला शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए नागौर में समाज का महिला छात्रावास खोले जाने का प्रस्ताव रखा जिसे सदन ने ध्वनिमत से पारित किया। अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में श्री देवाराम स्वामी ने सब का धन्यवाद ज्ञापित किया एवं छात्रावास की खाली पड़ी जमीन पर भवन निर्माण के लिए सामूहिक प्रयास एवं योगदान का आह्वान किया एवं स्वयं श्री देवाराम स्वामी ने ढाई लाख रुपए की लागत से कक्षा कक्ष बना कर समाज को सुपुर्द करने की घोषणा की।। कार्यक्रम का संचालन कोषाध्यक्ष राधेश्याम गोदारा ने किया। 

*धनावंशी स्वामी सत्संग भवन* के शिलान्यास 21 feb 2021

आज धनावंशी स्वामी समाज के लिए एक ऐतिहासिक कार्य हुआ है। सभी बंधुओं को अपनी अपनी डायरियों में आज के दिन को स्वर्ण अक्षरों में लिखना चाहिए। 500 वर्षों में जो नहीं हुआ है, वह आज हुआ है।

धन्ना जी भक्त विकास ट्रस्ट से लिखित सहमति के पश्चात धन्ना वंशी स्वामी समाज के पंथ परवर्तक संत शिरोमणि गुरु धन्ना जी महाराज की जन्मस्थली धौला कुआं में हमारे समाज के गणमान्य लोगों द्वारा धन्नाजी महाराज के गुरुद्वारे मंदिर परिसर में सत्संग भवन के निर्माण का समाज के लिए ऐतिहासिक निर्णय लिया गया ! इस निर्णय की आज ऐतिहासिक शुरुआत के रूप में भवन निर्माण कार्य का भूमिपूजन कर निर्माण कार्य शुभारम्भ किया गया ! हमारे समाज के लिए इस ऐतिहासिक शुरुआत के कर्णधार आदरणीय सुभाष जी जाखड़ एसीएफ साहब, आदरणीय लक्ष्मण दास जी रेंजर साहब, अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी आदरणीय राधेश्याम जी गोदारा, धन्ना वंशी स्वामी समाज के पूर्व अध्यक्ष आदरणीय गुलाब दास जी जोधपुर, त्रिलोक जी फागनिया जोधपुर, प्रेमदास जी खिंयाला, दामोदर जी रलिया रूपाथल, बस्ती राम जी गोरा मेड़ता, आदि लोग उपस्थित थे। 

धनावंशी समुदाय की बैठक सम्पन्न Online webinar 25 Oct 2020

धनावंशी स्वामी सम्प्रदाय के गणमान्य लोगों की ऑनलाइन मीटिंग में समाज हित के अनेक कार्य करने का निर्णय लिया गया। इस वेबीनार बैठक में विभिन्न गांवों के साठ से अधिक गणमान्य जनों ने भाग लिया। बैठक को विस्तृत रूप से डाॅ चेतन स्वामी ने सम्बोधित किया। उन्होंने इस अवसर पर बताया कि धनावंशी पंथ एक आध्यात्मिक पंथ है। भक्त धनाजी महाराज द्वारा प्रवृतित इस पंथ को अपनी आध्यात्मिक धरोहर की संरक्षा करनी चाहिए। इस अवसर पर यह निर्णय लिया गया कि शीघ्र ही समाज के सामाजिक-धार्मिक और शैक्षिक कार्यों को गति देने के लिए धनावंशी स्वामी महासभा का गठन किया जाए तथा एक तदर्थ समिति को यह कार्य सौंपा जाए। 

इस अवसर पर धनावंशी वेबसाइट को भी प्रारंभ किया गया। इस वेबसाइट का निर्माण इंजीनियर प्रेमदास स्वामी ने किया है। ऑनलाइन बैठक में भाग लेनेवाले जनों ने प्रसन्नता प्रकट करते हुए कहा कि इस महामारी के काल में एक जगह एकत्र होने की बजाय इस तरह से मीटिंग किया जाना सुगम है।

धुंवा कल्ला की ऐतिहासिक यात्रा 17 sep 2020

परम पूजनीय गुरुदेव धन्ना जी महाराज की असीम अनुकंपा से आज धुआ कला जाकर गुरुदेव के दर्शनों की अभिलाषा पूर्ण हुई। आज के इस दर्शनाभिलाषी टूर के सहयोगी साथी रहे श्री राधेश्याम जी गोदारा नागौर श्री भरत कुमार जी रलिया, श्री प्रेमदास जी धन्ना वंशी खियांला, साथ रहे। आज किस भ्रमण दल में गुरुदेव जी के मंदिर के ट्रस्ट सदस्यों, गांव के सरपंच, पुजारी, एवं मां के गुरुद्वारे के बाबा से मिलने का अवसर प्राप्त हुआ। ट्रस्ट के सदस्यों से हमने धन्ना जी मंदिर परिसर के सामने सत्संग भवन समाज के सहयोग से बनाने की अभिलाषा रखी। तो उन्होंने हमें निशुल्क सत्संग भवन के लिए जमीन आवंटित करने का आश्वासन दिया है। अगर गुरुदेव की कृपा रही तो शायद चार-पांच दिनों में आवंटन पत्र प्राप्त हो जाएगा। अब समाज की पहचान एवं परम आदरणीय गुरुदेव के सम्मान में एक स्मृति के रूप में समाज के सक्रिय सहयोगी साथियों द्वारा शीघ्र ही सत्संग भवन निर्माण की आधारशिला रखने की आप सभी से विनम्र अनुरोध है मुझे उम्मीद ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि आपका पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा एवं हम इस ऐतिहासिक कदम की आधारशिला रखेंगे।। आप का स्नेही बस्तीराम स्वामी मेड़तासिटी*

भक्त धनाजी महाराज की 606 वीं जयंती

1. गुसांईसर बड़ा में मनाई गई भक्त धनाजी महाराज की 606 वीं जयंती

------------------------------------------

श्रीडूंगरगढ़। तहसील के गुसांईसर बड़ा गांव में धनाजी धोरा पर आज धूमधाम से भक्त प्रवर धनाजी महाराज की 606 वीं जयंती मनाई गई। इस दौरान उपस्थित धनावंशी जनों ने धनाजी महाराज की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धा व्यक्त की। तथा एक सभा कर धनाजी के चरित्र का वर्णन किया। गुसांईसर के इस पवित्र स्थल पर ठाकुर जी तथा भक्त धनाजी का भव्य मंदिर निर्माण करने का निर्णय किया गया। इसके लिए तीन सदस्यों की एक तदर्थ कमेटी का भी गठन किया गया। जयंती समारोह को संबोधित करते हुए डॉक्टर चेतन स्वामी ने कहा की भक्त शिरोमणि धनाजी को भक्ति का प्रतीक कहा जा सकता है, उन्होंने अपने जीवन में सदा ही परमात्मा से निकटता रखी। उनकी भक्ति सखा भक्ति कही जाती है। सभी भक्तमालों में उनके चरित्र का उज्जवल वर्णन प्राप्त होता है। धनाजी महाराज ने संवत 1532 में धनावंश जैसे भक्ति संप्रदाय का प्रणयन किया। पांच सौ पैंतालीस वर्षों से यह समाज भक्ति पथ पर आरूढ है।

इस अवसर पर डॉ घनश्याम दास स्वामी, शिक्षाविद श्यामसुंदर स्वामी, वयोवृद्ध गिरधारी दास, सामाजिक कार्यकर्ता जमनदास,  श्रीरामदास, प्रयागदास, परतादास, परमेश्वर दास आदि जनों ने भी अपने विचार प्रकट किए और संस्था के शीघ्र निर्माण का संकेत दिया। इस बात पर भी बल दिया गया कि धनावंशी स्वामियों में धार्मिक और शैक्षिक जागृति के अनेक  कार्यक्रमों को व्यवस्थित रूप से प्रारंभ किया जाए। गुसांईसर की यह संस्था अपने आप में एक मानक बने। प्रारंभ में परिव्राजक संत सीताराम दास ने धनाजी महाराज की स्तुति प्रस्तुत की। कार्यक्रम में स्थानीय धनावंशी समाज की पर्याप्त उपस्थिति रही।

2. मेड़ता सीटी

*मेड़ता सिटी की अंबिका कॉलोनी में आज धन्ना जी महाराज की 606 वी जयंती मनाई गई धना जी महाराज की जीवनी पर प्रकाश डाला धन्ना वंशी** *स्वामी समाज के* *अध्यक्ष बस्तीराम स्वामी ने धना जी* *महाराज के बताए गए नियमों और मार्ग पर चलने की बात कही भक्ति* *काल में धना जी महाराज ने* *गांव-गांव* *घूमकर धर्म का प्रचार किया तथा* *उनके जो भी अनुयाई बनेआज उनको* *आस्था पूर्वक उनकी जयंती मना रहे हैं धना जी महाराज टोंक जिले के* *धुआ कला गांव में एक किसान के घर में जन्मे और उन्होंने बहुत ही भक्ति की और खेतिका बीज  था जो उन्होंने साधु-संतों को वितरित कर* *दिया और खाली हल चलाया लेकिन भगवान ने उनके हीरे पन्ने निपेजाये व भगवान उनके खेत* *की रखवाली करते थे और भक्तों के भगवान के दास बनकर कर रहे धना भगत बहुत ही मान भगत हुआ इस अवसर परआदेस विवान रामुस्वामी बाबूदास जी बायड़*
*रामनिवास बायड बुद्धा दास जी चौहान नगर सुख जी अंबिका कॉलोनी  नंदकिशोर जी चुन्दीया विनोद कुमार जी सारस्वत गोपाल* *स्वामीआदि  सदस्योंने  धना जी महाराज की पूजा अर्चना व आरती* *कर  जयंती बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाई हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी  धन्ना वंशी स्वामी समाज के सदस्यों ने धना जी महाराज की जयंती बड़े उत्सुक साथ  मनाई गई*




3. नागौर 
धना जी महाराज की असीम अनुकंपा से श्री धनावंसी छात्रावास मानासर नागौर में आज समाज के मंत्री श्री रामनिवास जी स्वामी के सानिध्य में श्री धन्ना वंशी स्वामी समाज के पंत प्रवर्तक श्री धना भगत की 606वी  जयंती समारोह पूर्वक मनाई गई। इस मौके पर कोषाध्यक्ष राधेश्याम गोदारा, पंचायत प्रसार अधिकारी श्री मेघा राम जी मदेरणा, सक्रिय सदस्य दामोदर रलिया, अन्य गणमान्य नागरिक एवं छात्रावास में निवास पर अध्ययन करने वाले विद्यार्थी उपस्थित रहे। श्री धन्ना जी महाराज के जयंती के उपलक्ष में उपस्थित महानुभावों को जयंती मना कर प्रसाद वितरण का कार्य किया गया। इस मौके पर समाज के प्रतिभावान मेधावी विद्यार्थियों को सम्मानित भी किया गया एवं समस्त विद्यार्थियों ने धन्ना जी के बताए हुए आदर्श पर चलकर देश एवं समाज सेवा का संकल्प लिया गया।