श्री धन्नावंशी स्वामी महासभा ट्रस्टसदस्य

 
Embroidered Flowers

श्री सुभाष चंद्र जी जाखड़  (झुंझुन) 

(अध्यक्ष)

श्री अर्जुन दास जी (हरियासर चूरू)

(उपाध्यक्ष)

श्री कृष्ण गोपाल जी वैष्णव  (जोधपुर)

(उपाध्यक्ष)

श्री बस्तीराम जी गौरा   (मेड़ता सिटी , नागौर ) 9414924473

(प्रचार मंत्री)

श्री गुलाब  दास जी वैष्णव उपाध्यक्ष (जोधपुर)

(उपाध्यक्ष)

श्री राधेश्याम जी गोदारा (नागौर)

 9413187256 

(सचिव)

डॉ घनश्याम दास जी

(नोखा, बीकानेर ) 

 9414603586  

(कोषाध्यक्ष)

श्री सांवरमल जी स्वामी

(आबसर, चूरू)  9560290444

(सदस्य)

श्री लक्ष्मण कुमार जी (जयपुर)

 9462368365

(सदस्य)

श्री रघुवीर सिंह जी (चूरू)

 9414776723

(सदस्य)

श्री प्रेमदास जी (खिंयाला नागौर) 

 9784398383

(सदस्य)

श्री त्रिलोक दास जी (जोधपुर)

 9414130595 

(सदस्य)

 श्री गंगादास जी (जोधपुर)

 9414440880 

(सदस्य)

श्री सीताराम दास जी (गुसाईंसर बड़ा, बीकानेर )

 9352818583 

(सदस्य)

श्री नंदकिशोर जी डूडी (सिक्किम)

(सदस्य)

श्री जयनारायण जी (जोधपुर) 7073003111

(सदस्य)

श्री महावीर जी स्वामी

(थावरिया , बीकानेर)

(सदस्य)

श्री भारत कुमार जी रलिया (जोधपुर)

 9462077382

(सदस्य)

इस ट्रस्ट का सदस्य बनने के लिए अध्यक्ष महोदय से सम्पर्क करे । सदस्यता शुल्क ११००० रुपये है।

धन्नावंशी महासभा के उद्देश्य

सामाजिक उद्देश्य

१. इस ट्रस्ट का उद्देश्य समाज की सर्वोन्मुखी उन्नति के लिए सामाजिक, शैक्षणिक, आध्यात्मिक एवं स्वास्थ्य संबंधी विषय धार्मिक आर्थिक एवं पर्यावरणीय प्रवृत्तियों को बढ़ावा देने का रहेगा।

२. समाज में फैली हुई विभिन्न कुरीतियों को दूर करने के लिए यह ट्रस्ट विभिन्न माध्यमों से प्रयास करेगा । ३. ऐसे जरुरतमंद व्यक्ति जो अक्षम है, विकलांग है, मानसिक या शारीरिक रूप से कमजोर है या निर्धन वर्ग के हैं, उनके उत्थान व जीविकोपार्जन के लिए आर्थिक सहायता करना। उनके जीविकोपार्जन के लिए लघु एवं कुटीर उद्योगों की स्थापना करेगा

४. ट्रस्ट सामाजिक उत्थान के लिए तात्कालिक समय के अनुसार वे सभी कार्य करेगा जो उस समय के लिए आवश्यक हो । ५. समाज की विधवा, परित्यक्ता या आर्थिक रूप से वंचित महिलाओं की आर्थिक सहायता करना एवं उनकी देखभाल हेतु विभिन्न उपक्रम करेगा तथा समाज की सभी महिलाओं के कल्याण हेतु सभी कार्य करेगा ।

६. समाज की उन्नति के लिए विभिन्न प्रकार के सम्मेलन, सभाएं, मैले, उत्सव एवं समारोह आयोजित करेगा। ७. सामाजिक कार्य के विकेंद्रीकरण हेतु जिला स्तर एवं खंड स्तर पर उप समितियों का निर्माण करेगा एवं उन्हें प्रोत्साहित करेगा अथवा पूर्व में कार्य कर रही समितियों को महासभा के अंतर्गत मार्गदर्शन हेतु घटक के रूप में समाहित करने का कार्य यह ट्रस्ट करेगा।

८. सामाजिक सुधार हेतु समय-समय पर सामूहिक विवाह के छोटे-बड़े आयोजन करवाना ।

९. समाज की विभिन्न कुरीतियों के विरुद्ध विभिन्न अभियान चलाना तथा उनको सामाजिक रूप से प्रतिबंध हेतु प्रयास करना । १०. ट्रस्ट द्वारा आवश्यक विभिन्न सरकारी अथवा निजी जनहितकारी, जनकल्याणकारी कार्यों में रूप में बढ़-चढ़कर भाग लिया जाएगा।

११. विभिन्न शहरों में धर्मशाला, समाज भवन (नयति नोहरे) के निर्माण कार्य कर उनका संचालन एवं प्रबन्धन देखना।

१२. समाज से सम्बन्धित विभिन्न साहित्यों का प्रकाशन, मासिक/ पाक्षिक/ त्रैमानिक पत्रिकाओं का प्रकाशन, समाज से सम्बन्धित विभिन्न साहित्य का सृजन एवं उपलब्ध साहित्य का संरक्षण करना।

१३. सामजिक सद्भाव हेतु पारिवारिक मिलन कार्यक्रम, उत्सवों का आयोजन, विभिन्न प्रतियोगिताएं तथा पुरस्कार वितरण समोरोह आयोजित करना । १४. समय समय पर गोष्ठी, सेमिनार, अधिवेशन, प्रदर्शनी और प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जायेगा।

१५. समाज की होनहार प्रतिभाओं, सामाजिक कार्यकर्ता राजनीतिज्ञों एवं उत्कृष्ट कार्य करने वालों, राजकीय सेवा में कर्तव्यनिष्ठ अधिकारीयों, कर्मचारियों ऐसे अन्य सभी का उत्साहवर्धन करने के लिए नागरिक सम्मान, प्रशस्ति पत्र तथा पुरस्कार प्रदान


शैक्षणिक उद्देश्य

1. शिक्षा के प्रचार प्रसार हेतु प्राथमिक/ उच्च प्राथमिक/ उच्च माध्यमिक विद्यालय तथा सामान्य तकनीकी अथवा चिकित्सा संबंधी उच्च शिक्षा हेतु महाविद्यालय /विश्वविद्यालय की स्थापना करना ।

2. शिक्षा, साहित्य, समाज एवं धर्म की दृष्टि से आवश्यक लघु तथा वृहद पुस्तकालयों की स्थापना करना ।
3. समाज के आवश्यकता वाले बालक-बालिकाओं की शिक्षा की व्यवस्था करना।

4. समाज के बालक एवं बालिकाओं को समय-समय पर छात्रवृत्ति पुरस्कार, आर्थिक सहायता एवं विभिन्न प्रोत्साहन के कार्यक्रम आयोजित करना ।

5. पढ़ने वाले विद्यार्थियों के लिए छात्रावासों का निर्माण, आवास का पूर्ण प्रबंधन एवं उनको छात्रावास की समस्त सुविधाएं उपलब्ध करवाना ।

6. जिला अथवा राज्य स्तरीय पुरस्कार, मासिक / वार्षिक व्याख्यानमाला, विभिन्न विषयों पर कार्यशालाओं का आयोजन करना ।

आर्थिक उद्देश्य

१. समान उद्देश्य वाली किसी भी संस्था अथवा ट्रस्ट को दान/ सहायता देना।

२. उद्देश्य पूर्ति के लिए अन्य संस्थानों, बैंकों या अन्य वित्तीय संस्थानों से अथवा व्यक्तिगत ऋण अथवा दान लेना।

३. ट्रस्ट के उद्देश्य पूर्ति हेतु आवश्यकता अनुसार शुल्क, दान, चंदा, भौतिक संसाधन, उपहार आदि के रूप से सहायता लेना अथवा देना ।

४. उपरोक्त उद्देश्य पूर्ति हेतु आवश्यकता अनुसार ट्रस्ट के लिए चल- अचल संपत्ति खरीदना अथवा बेचना, दान लेना या देना, किराए पर लेना या देना अर्थात ट्रस्ट के उद्देश्य पूर्ति हेतु स्थाई आर्थिक आय हेतु कार्यवाही करना।

५. ट्रस्ट को अपने संस्थागत कार्य एवं विभिन्न परियोजनाओं के लिए वैतनिक कर्मचारी नियुक्त करने का अधिकार होगा।

६. समाज के असहाय, वृद्ध महिलाओं बालिकाओं विद्यार्थियों एवं अन्य आवश्यकता वाले जनों अथवा विशेष आपदा प्रबन्धन / सहायता के लिए आकस्मिक कोष का निर्माण करना ।

७. स्वयं सहायता समूहों, महिला समूहों का गठन कर रोजगार परक प्रशिक्षण प्रदान करना ।

८. समाज के वंचित, असहाय, बेरोजगार एवं आवश्यकता वाले लोगों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए कुटीर एवं लघु उद्घोगों की स्थापना करना ।

९. राज्य सरकार, भारत सरकार द्वारा सांचालित विभिन्न जन उपयोगी / जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी प्राप्त कर उन योजनाओं से आम जन को लाभान्वित करने के माध्यम की भूमिका निर्वहन करना ।

१०. निरोगी समाज का लक्ष्य लेकर योग, आयुर्वेद, एलोपेथी एवं समस्त चिकित्सा पद्धतियों को बढ़ावा देने हेतु इनके प्रशिक्षण केंद्र अथवा शिक्षण केंद्र स्थापित करना ।

धार्मिक उद्देश्य

१. ट्रस्ट द्वारा विभिन्न धार्मिक साधना केंद्र देव विग्रह तथा मंदिरों की स्थापना की जाएगी साथ ही धार्मिक स्थलों के के निर्माण, जीर्णोद्धार तथा नव निर्माण के कार्य किये जायेंगे ।

२. ट्रस्ट द्वारा विभिन्न विद्वानों मनीषियों के व्याख्यान सम्मान कार्यक्रम एवं अथवा समाज सुधारकों के प्रवचन / आख्यान / व्याख्यान आयोजित किए जाएंगे।

३. ट्रस्ट द्वारा विभिन्न कलाओं, लोक संस्कृति, पूरा धरोहर के संरक्षण, संवर्धन एवं उद्धार के कार्य किये जायेंगे ।

४. ट्रस्ट नमाज की चली आ रही धार्मिक, सामाजिक परम्पराओ, व्यवस्थाओं का रक्षण पोषण करेगी तथा विस्मृत व्यवस्थाओं को पुनर्स्थापित करने का पूर्ण प्रयास करेगी।

पर्यावरण हेतु उद्देश्य

१. सामाजिक वानिकी, कृषि वानिकी द्वारा पर्यावरण सुरक्षा, प्रदूषण नियन्त्रण, वन्य जीव संरक्षण, जीव जन भो के कल्याण के कार्य करना ।

२. सघन वृक्षारोपण कार्यक्रम चलाना ।

३. गो रक्षण एवं संवर्धन हेतु गोशालाओ एवं अनुसन्धान केन्द्रों की स्थापना करना ।


For Donation, Account Detail is: 

Name: SHRI DHANAVANSI SWAMI MAHASABHA TRUST

Account no. : 0000083076592842

Bank: RAJASTHAN MARUDHARA GRAMINBANK
Station road,Nagaur , RAJASTHAN, 341001, 
Branch Code: 00363
IFSC Code: RMGB0000363